पसंद के लडके से शादी करने का टोटका · पसंद के लड़के से शादी करने का अमल · पसंद के लड़के से शादी करने का इलाम · पसंद के लड़के से शादी करने का तवीज़ · पसंद के लड़के से शादी करने का वज़ीफ़ा · पसंद के लड़के से शादी करने की दुआ · Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Amal · Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Ilam · Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Taweez · Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Totka · Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Wazifa · Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ki Dua

Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Wazifa – पसंद के लड़के से शादी करने का वज़ीफ़ा

Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Wazifa

har kisee ladakee ka sapana hota hai kee use aisee ladaka mile jo jeevan bhar usaka saath nibhae, isalie ham laaye hai, manapasand shaadee mein saphal hone kee dua aur pasand kee shaadee ka quraanee amal. ise pasand kee shaadee jaldee hone ka vazeefa bhee kaha jaata hai. mohabbat ka mudda jodon ke beech sabase aam aur gambheer samasya hai. jeevan mein ek baar har vyakti pyaar mein pad jaata hai. aur har rishta kathin daur se gujarata hai. isalie yah sab jodon par nirbhar karata hai ki ve apane rishte mein aane vaalee samasyaon ko kaise sambhaalate hain.

lekin manachaahe saathee se shaadee karana aasaan nahin hota hai. kaee ladakiyaan hain jo is tarah kee sthiti se gujar rahee hain jahaan unhen shikaayat hai ki unaka premee shaadee ke lie taiyaar nahin ho raha hai aur isake peechhe kaee kaaran hote hain. kaee baar ladake ke ghar vaale unake rishton ke khilaaph hote hain, Dua To Marry Someone You Love to kaee baar ladake kee saamaajik stets manapasand shaadee ke khilaaf chala jaata hain| yah sab un par nirbhar karata hai ki ve apane rishte kee samasyaon ko kaise sambhaalate hain.

Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ki Dua

parantu yadi phir bhee baat na bane to aap islaamee amal aur vajeefa kee madad le sakate hain| aage ham is lekh mein “manapasand ladake se shaadee karane kee dua” ke baare mein charcha karenge| manapasand ladake se shaadee karane kee dua–yadi aapake paas apane saathee se shaadee karane ke lie sachchee ichchhaen hain to aapaneeche diye hue dua ko 15 din bina kisee antaraal ke rozaana 100 martaba padhen pahalee baat yah hai ki kisee rishte ko paripoorn banaane ke lie ek majaboot sanvaad aavashyak hai,

ek svasthy sanvaad prem sambandh ko jeevit rakhata hai aur aur aap apane premee ko us sambandh ke baare mein gambheerata se sochane ke lie majaboor karate hain|yadi aap apane premee se hee shaadee karana chaahate hain aur is shaadee ko kaamayaab bhee banaana chaahate hain to aapako nimn islaamee upaay karanee chaahie rishte ko paripoorn aur majaboot banaane ke lie, dua sabase aavashyak cheej hai. agar vah rishte ke lie gambheer hai aur vah bhee aapake saath shaadee karana chaahata hai to yah aapake lie achchha hai.

Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Amal

yah ekamaatr tareeka hai jisake dvaara aap apane premee ko shaadee ke lie mana sakate hain| apane saathee ko paane ke lie dua karane se aap apane premee ke baare mein apane rishte ke baare mein soch paenge ki vah rishte ko lambe samay tak tikaana chaahata hai ya nahin, vah rishte ke baare mein gambheer hai ya nahin, aur bhee bahut kuchh. rishte kee shuruaat mein, yah sunishchit karana aavashyak hai ki aapake aur aapake premee ke beech aapake sambandh ke baare mein samaan drshtikon hai.

apane manapasand shaadee kee saphalata ke lie aap neeche ullekhit dua ko rozaana apane nikaah hone ke din tak kam se kam 22 martaba padheis dua ko padhane se aapako apane premee ko shaadee karane ke lie manaane aur apanee shaadee ko umr bhar nibhaane ke lie khuda kee nemat praapt hoga| is dua ke asar se aapaka mahaboob aapakee baat maanane lagega aur aapase shaadee karane ke lie sahamat ho jaega aur aapakee shaadee kee saphalata kee gairentee satapratishat rahegee| kuraan islaam ka bahut hee pavitr granth hai.

Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Taweez

ek sachcha muslim rojaana kuraane-paak ka paath karata hai kuraan mein har marj kee dava hai| yadi ise apanee pooree tabeeyat ke saath padhate hain to aapako isamen apanee har samasya ka samaadhaan mil jaega| yadi aap kisee ke mohabbat mein hai aur usase shaadee karana chaahate hain to aapako aage yah lekh padhanee chaahie kyonki ham pasand kee shaadee ke lie kuraanee amal ka jikr karane ja rahe hain pasand kee shaadee ka quraanee amal- kuchh aise kapals hain jo taim paas ke lie rileshanaship mein aate hain na ki lambee avadhi ke lie.

lekin kuchh jode aise hote hain jo ek-doosare ke mohabbat mein pad jaate hain aur unakee pahalee aur aakhiree ichchha ek doosare ke saath shaadee karane ke saath-saath ek sukhee vaivaahik jeevan bitaana hota hai| dua ke saath aage badh sakate hain.yadi aap kisee ko pasand karate hain aur usase jald-se jald shaadee karana chaahate hain, to isake lie ‘pasand kee shaadee jaldee hone ka vazeefa’ ko aajamaanee chaahie| pasand kee shaadee jaldee hone ka vazeefa- is vajeefa ke lie aapako pratidin paanch vakt ka namaaz padhanee chaahie,

Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Totka

saath hee din mein baaree baaree se 3-3 baar daarude-shareeph, aur daarude-ibraheem ka paath kare| pratyek paath ke ant mein neeche diye hue vajeefa ko 40 martaba padhe| is vajeefa ke asar se,thode hee samay mein, aapako apane jeevan mein aane vaalee samasyaon se chhutakaara mil jaega. aur jald hee aap apane premee se shaadee kar lenge aur ek shaanadaar shaadeeshuda jeevan bitaenge. haalaanki, un logon ke lie kuchh niyam aur sharten hain jo kisee aise vyakti se shaadee karane ke lie utsuk hain, jinase ve pyaar karate hain, aapako isaka anupaalan karana chaahie.

gupt vivaah islaam mein nishiddh hai| yah sirph islaam mein mahilaon ke adhikaaron kee raksha ke lie hai. ladakon ko apane maata-pita ke maadhyam se prastaav bhejana chaahie. is tarah se ladakee ke maata-pita dvaara shaadee ke prastaav ko sveekaar karane kee adhik sambhaavana hogee. jab bujurg nirnay karate hain, to yah saamaajik roop se sahee disha mein jaata hai. any kisee bhee samasya ke samaadhaan ke lie lekh mein diye hue islaamee amal ko aajama kar apanee samasya ka hal nikaal sakate hain aur apane pasand ke vyakti se shaadee kar sakate hain.

Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Ilam

apanee pasand se shaadee karane kee dua, apanee pasand kee shaadee kaun nahin karana chaahata, lekin allaataala kee marjee ke bagair kuchh bhee nahin hota. manapasand shaadee ke lie bade jatan karane padate hain. khaasakar premiyon ko is sambandh mein kaee tarah kee baadhaen paar karanee padatee hain. parivaar aur samaaj ke logon kee buree najaron se bachana hota hai. prem-vivaah ke lie apane bhee dushman kee tarah pesh aate hain. kaee baar ladakee kee shaadee mein kaaphee vilamb hone lagata hai. kariyar banaane ke chakkar mein shaadee kee umr nikalane vaalee hotee hai.

yahee haal ladakon ka bhee hota hai. manapasand jeevanasaathee nahin milane kee sthiti mein aadhee dashak jitanee umr nikal jaatee hai. jeevan mein kaee ladakiyaane ke aane ke baavajood rishta tay nahin ho paata hai. aap bhee inheen mein se koee ek to nahin? kya aapakee kisee manapasand ladakee se shaadee karane kee khavaahish hai? kya aapaka premee shaadee karane se mukar raha hai? ya aap apane pairents ya vaalid ko apanee pasand ke ladake se shaadee karane lie raajee nahin kar pa rahee hain. ab saaph paak vajoo karane ke baad 7 baar surah yaaseen padhe.

पसंद के लड़के से शादी करने का वज़ीफ़ा

हर किसी लड़की का सपना होता है की उसे ऐसी लड़का मिले जो जीवन भर उसका साथ निभाए, इसलिए हम लाये है, मनपसंद शादी में सफल होने की दुआ और पसंद की शादी का क़ुरानी अमल. इसे पसंद की शादी जल्दी होने का वज़ीफ़ा भी कहा जाता है. मोहब्बत का मुद्दा जोड़ों के बीच सबसे आम और गंभीर समस्या है। जीवन में एक बार हर व्यक्ति प्यार में पड़ जाता है। और हर रिश्ता कठिन दौर से गुजरता है। इसलिए यह सब जोड़ों पर निर्भर करता है कि वे अपने रिश्ते में आने वाली समस्याओं को कैसे संभालते हैं। लेकिन मनचाहे साथी से शादी करना आसान नहीं होता है। कई लड़कियां हैं जो इस तरह की स्थिति से गुजर रही हैं जहां उन्हें शिकायत है कि उनका प्रेमी शादी के लिए तैयार नहीं हो रहा है

और इसके पीछे कई कारण होते हैं। कई बार लड़के के घर वाले उनके रिश्तों के खिलाफ होते हैं, तो कई बार लड़के की सामाजिक स्टेट्स मनपसंद शादी के खिलाफ़ चला जाता हैं| यह सब उन पर निर्भर करता है कि वे अपने रिश्ते की समस्याओं को कैसे संभालते हैं। परंतु यदि फिर भी बात ना बने तो आप इस्लामी अमल और वजीफ़ा की मदद ले सकते हैं| आगे हम इस लेख में “मनपसंद लड़के से शादी करने की दुआ” के बारे में चर्चा करेंगे| मनपसंद लड़के से शादी करने की दुआ–यदि आपके पास अपने साथी से शादी करने के लिए सच्ची इच्छाएं हैं तो आपनीचे दिये हुए दुआ को 15 दिन बिना किसी अंतराल के रोज़ाना 100 मर्तबा पढ़ें पहली बात यह है कि किसी रिश्ते को परिपूर्ण बनाने के लिए एक मजबूत संवाद आवश्यक है

पसंद के लड़के से शादी करने की दुआ

एक स्वस्थ्य संवाद प्रेम संबंध को जीवित रखता है और और आप अपने प्रेमी को उस संबंध के बारे में गंभीरता से सोचने के लिए मजबूर करते हैं|यदि आप अपने प्रेमी से ही शादी करना चाहते हैं और इस शादी को कामयाब भी बनाना चाहते हैं तो आपको निम्न इस्लामी उपाय करनी चाहिए रिश्ते को परिपूर्ण और मजबूत बनाने के लिए, दुआ सबसे आवश्यक चीज है। यह एकमात्र तरीका है जिसके द्वारा आप अपने प्रेमी को शादी के लिए मना सकते हैं| अपने साथी को पाने के लिए दुआ करने से आप अपने प्रेमी के बारे में अपने रिश्ते के बारे में सोच पाएंगे कि वह रिश्ते को लंबे समय तक टिकाना चाहता है या नहीं, वह रिश्ते के बारे में गंभीर है या नहीं, और भी बहुत कुछ।

रिश्ते की शुरुआत में, यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि आपके और आपके प्रेमी के बीच आपके संबंध के बारे में समान दृष्टिकोण है। अगर वह रिश्ते के लिए गंभीर है और वह भी आपके साथ शादी करना चाहता है तो यह आपके लिए अच्छा है। अपने मनपसंद शादी की सफलता के लिए आप नीचे उल्लेखित दुआ को रोज़ाना अपने निकाह होने के दिन तक कम से कम 22 मर्तबा पढेइस दुआ को पढ़ने से आपको अपने प्रेमी को शादी करने के लिए मनाने और अपनी शादी को उम्र भर निभाने के लिए खुदा की नेमत प्राप्त होगा| इस दुआ के असर से आपका महबूब आपकी बात मानने लगेगा और आपसे शादी करने के लिए सहमत हो जाएगा और आपकी शादी की सफलता की गैरेंटी सतप्रतिशत रहेगी|

पसंद के लड़के से शादी करने का अमल

कुरान इस्लाम का बहुत ही पवित्र ग्रंथ है| एक सच्चा मुस्लिम रोजाना कुराने-पाक का पाठ करता है कुरान में हर मर्ज की दवा है| यदि इसे अपनी पूरी तबीयत के साथ पढ़ते हैं तो आपको इसमें अपनी हर समस्या का समाधान मिल जाएगा| यदि आप किसी के मोहब्बत में है और उससे शादी करना चाहते हैं तो आपको आगे यह लेख पढ़नी चाहिए क्योंकि हम पसंद की शादी के लिए कुरानी अमल का जिक्र करने जा रहे हैं पसंद की शादी का क़ुरानी अमल- कुछ ऐसे कपल्स हैं जो टाइम पास के लिए रिलेशनशिप में आते हैं न कि लंबी अवधि के लिए। लेकिन कुछ जोड़े ऐसे होते हैं जो एक-दूसरे के मोहब्बत में पड़ जाते हैं और अपने पसंद के व्यक्ति से शादी कर सकते हैं|

और उनकी पहली और आखिरी इच्छा एक दूसरे के साथ शादी करने के साथ-साथ एक सुखी वैवाहिक जीवन बिताना होता है| दुआ के साथ आगे बढ़ सकते हैं।यदि आप किसी को पसंद करते हैं और उससे जल्द-से जल्द शादी करना चाहते हैं, तो इसके लिए ‘पसंद की शादी जल्दी होने का वज़ीफ़ा’ को आजमानी चाहिए| पसंद की शादी जल्दी होने का वज़ीफ़ा- इस वजीफ़ा के लिए आपको प्रतिदिन पाँच वक्त का नमाज़ पढ़नी चाहिए| साथ ही दिन में बारी बारी से 3-3 बार दारुदे-शरीफ, और दारुदे-इब्रहीम का पाठ करे| प्रत्येक पाठ के अंत में नीचे दिये हुए वजीफ़ा को 40 मर्तबा पढ़े| इस वजीफ़ा के असर से,थोड़े ही समय में, आपको अपने जीवन में आने वाली समस्याओं से छुटकारा मिल जाएगा।

पसंद के लड़के से शादी करने का तवीज़

और जल्द ही आप अपने प्रेमी से शादी कर लेंगे और एक शानदार शादीशुदा जीवन बिताएंगे। हालांकि, उन लोगों के लिए कुछ नियम और शर्तें हैं जो किसी ऐसे व्यक्ति से शादी करने के लिए उत्सुक हैं, जिनसे वे प्यार करते हैं, आपको इसका अनुपालन करना चाहिए। यह सिर्फ इस्लाम में महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए है। लड़कों को अपने माता-पिता के माध्यम से प्रस्ताव भेजना चाहिए। इस तरह से लड़की के माता-पिता द्वारा शादी के प्रस्ताव को स्वीकार करने की अधिक संभावना होगी। जब बुजुर्ग निर्णय करते हैं, तो यह सामाजिक रूप से सही दिशा में जाता है। अन्य किसी भी समस्या के समाधान के लिए लेख में दिये हुए इस्लामी अमल को आजमा कर अपनी समस्या का हल निकाल सकते हैं

अपनी पसंद से शादी करने की दुआ, अपनी पसन्द की शादी कौन नहीं करना चाहता, लेकिन अल्लाताला की मर्जी के बगैर कुछ भी नहीं होता। मनपसंद शादी के लिए बड़े जतन करने पड़ते हैं। खासकर प्रेमियों को इस संबंध में कई तरह की बाधाएं पार करनी पड़ती हैं। परिवार और समाज के लोगों की बुरी नजरों से बचना होता है। प्रेम-विवाह के लिए अपने भी दुश्मन की तरह पेश आते हैं। कई बार लड़की की शादी में काफी विलंब होने लगता है। करियर बनाने के चक्कर में शादी की उम्र निकलने वाली होती है। यही हाल लड़कों का भी होता है। मनपसंद जीवनसाथी नहीं मिलने की स्थिति में आधी दशक जितनी उम्र निकल जाती है। जीवन में कई लड़कियांे के आने के बावजूद रिश्ता तय नहीं हो पाता है।

पसंद के लडके से शादी करने का टोटका

आप भी इन्हीं में से कोई एक तो नहीं? क्या आपकी किसी मनपसंद लड़की से शादी करने की खवाहिश है? क्या आपका प्रेमी शादी करने से मुकर रहा है? या आप अपने पैरेंट्स या वालिद को अपनी पसंद के लड़के से शादी करने लिए राजी नहीं कर पा रही हैं। यदि हां तो ‘ अपनी पसंद की शादी की दुआ या वजीफा ’ को फौरन पढ़ना शुरू कर दीजिए। इस वजीफे को विवाह को इच्छुक लड़का या लड़की किसी भी मुनासिब दिन और मुनासिब वक्त में पढ़ सकते हैं। यदि कोई लड़की अपने महबूब या कोई लड़का या कोई लड़की अपनी महबूबा से शादी के लिए तड़प रहे हैं तो या इसके लिए महत्वपूर्ण सुराह अल मुमतहान का पालन करना होता है। ये सोचकर शादी के लिए मना कर देते है।

यानी कि अव्वल ओ आखिर दुरूद-ए-पाक के साथ वजीफे को पढ़ने की संख्या और अमल का तरीका सही होना चाहिए। इस बारे में किसी जानकार मौलवी से पता कर लें। वैसे वजीफा पढ़ने का सिलसिलेवार तरीका इस प्रकार है- शादी में देरी होने या शादी की उम्र निकले जाने की स्थिति में पसंद की शादी का कुरआनी अमल करना सही होता है। इससे शादी के लिए आने वाली रूकावटें दूर हो जाती हैं। यदि किसी लड़की के महबूब के वालिद शादी के लिए राजी नहीं हो रहे हों और उसके द्वारा लाख मनाने के बावजूद उनका जवाब नहीं में मिल रहा हो तो पैरेंटस को राजी करने का वजीफा पढ़ें। इसका मां-बाप पर मुकम्मल असर होता है। आज के समय में ये बात सभी जानते है

पसंद के लड़के से शादी करने का इलाम

ग्यारह दिनों मंे पूरा किए जाने वाले इस वजीफे के अमल का सिलसिलेवार तरीका इस प्रकार है पसंद की शादी के लिए वजीफा दोस्तों ज़िन्द्की को सरल और खुशी से चलने के लिए हर कोई चाहता है की शादी उसकी पसंद से हे हो. इसलिए आज हम आपको मनपसंद लड़के से शादी करने की दुआ और अपनी पसंद की लड़की से शादी करने का वज़ीफ़ा बता रहे है. हम आपको मनपसंद शादी में रुकावट दूर करने का वजीफा भी बतायेगे। कि अपने पसंद के लड़के या पसंद की लड़की से शादी करना कितना मुश्किल है। सबसे पहले तो अपने साथी को शादी के लिए राजी करने में ही कई साल लग जाते है। इसके बाद जब वे दोनों अपने रिश्ते की बात घर पर बताते है तो घरवाले पहली बार में ही साफ इन्कार कर देते है।

घर वाले कभी दूसरी जाति होने का बहाना लगा देते है तो कई समाज के लोग क्या सोचेंगे, ऐसे समय पर आप पसंद की शादी के लिए वजीफा का इस्तेमाल कर सकते है। यदि आप अपनेप्रेमी से सच्चा प्यार करते है और उससे शादी करना चाहता है, लेकिन बार-बार कोई रुकावट आ रही है तो आप ये पसंद की शादी के लिए वजीफा अपना सकते है। पसंद की शादी के लिए वजीफा आपको जुमे की रात को अपनाना है। सबसे पहले साफ पाक कपड़े पहन वुजू बना लीजिए। अब पसंद की शादी के लिए वजीफा के लिए रकत की नमाज अदा करें। जब तक कि आपकी पसंद का रिश्ता पक्का नहीं हो जाता। यह नमाज आपको नेक नियत के साथ दोनों हाथ फैलाकर अदा करनी है। अब तीन बार दुरूद ए इब्राहिम पढ़े।

One thought on “Pasand Ke Ladke Se Shadi Karne Ka Wazifa – पसंद के लड़के से शादी करने का वज़ीफ़ा

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s